Thursday , May 28 2020

WORLD's FASTEST GROWING POSITIVE NEWS PORTAL

Latest
Home / National / दादी जानकी के 104वें जन्मदिवस पर रक्तदान शिविर सम्पन्न

दादी जानकी के 104वें जन्मदिवस पर रक्तदान शिविर सम्पन्न

रक्तदान की सेवा सबसे पुण्यशाली कार्य- बी के समिता बहन

मन्दसौर। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय अंतरराष्ट्रीय संस्थान की मुख्य प्रशासिका योग शक्ति  राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी दादी जानकी  का पूरा जीवन परमार्थ की प्रेरणा देता है ।104 वर्ष की आयु में भी वे जिस शिद्दत के साथ 140 देशों में फैले अन्तर्राष्ट्रीय आध्यात्मिक संस्थान का संचालन कर रही है वह काबिले तारीफ हैं। 46 हजार बहनों की अभिभावक दादी जी के मार्गदर्शन में समर्पित बहने दुनिया भर में फैले आठ हजार से अधिक सेवा केन्द्रों के माध्यम से लोगों में मूल्यों का संचार कर एक नये विश्व की स्थापना में संलग्र है। अपना पूरा जीवन आध्यात्मिक सेवा में समर्पित करने वाली दादी जानकी जी के जन्म दिवस के अवसर पर रक्तदान करना न केवल पुण्य शाली कार्य है बल्कि मानव सेवा में सबसे अहम सेवा है।
यह बात ब्रह्माकुमारी संस्थान आत्म कल्याण भवन मंदसौर सेवाकेंद्र संचालिका एवं वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी समिता बहन ने दादी जानकी के 104 वे जन्मदिवस पर जिला अस्पताल में आयोजित रक्तदान शिविर में कहीं ।
शिविर में जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष पूर्व अध्यक्ष मदनलाल राठौड़, समाजसेवी सत्येंद्र सोम सहित अनेक गणमान्य जन विशेष रूप से उपस्थित थे।
समिता बहन ने कहा की दादी जानकी नारी शक्ति का सशक्त नेतृत्व हैं जिन्होंने 46 हजार बहनों की ऐसी रूहानी सेना तैयार की है जो लोगों में आध्यात्मिकता के जरिए ज्ञान, राजयोग और साधना से मूल्यनिष्ठता को स्थापित करने के लिये सदैव प्रयासरत है। आप दुनिया भर में यात्रा कर महिलाओं, बच्चों के विकास और सुरक्षा, आध्यात्मिक सशक्तिकरण के साथ ही देश और दुनियां भर में अमन, चैन और सुख शांति की स्थापना के लिए कार्यरत हैं। दादी के जीवन से प्रेरणा लेकर अनेक लोग सेवा कार्यो मे समर्पित है। मानवता की सेवा में रक्तदान सबसे पुनीत और पुण्यशाली कार्य माना जाता है। जिसमे आज अनेक भाई बहन सहभागी बने है।
जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष मदनलाल राठौड़ ने रक्तदान करने वाले भाई बहनों की प्रशंसा करते हुए कहा कि रक्तदान वैसे ही पुण्य शाली कार्य है और सेवा की प्रतिमूर्ति दादी जानकी जी के जन्म दिवस के अवसर पर रक्त दान करने से तो इस महान सेवा का पुण्य दुगना हो जाएगा।
समाजसेवी सत्येंद्र सोम ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए रक्तदान करने वालों की प्रशंसा की।
ब्रह्माकुमारी हेमलता बहन ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की।
शिविर में रक्तदान दाताओं का जिला अस्पताल की ओर से प्रमाण पत्र देकर सम्मान किया गया।
इस अवसर पर मनोज भटनागर,दिनेश माली, शिवकन्या माली, तेजस्वी माली, सुशीला सैनी, सिमरन सैनी,कविता लालवानी, योगेश जैन,श्रीपाल मालवीय, ओम प्रकाश वर्मा, अंजू तिवारी, कुलदीप, नैंसी गंगवाल सहित अनेक गणमान्य जन उपस्थित थे ।

https://www.brahmakumaris.com/rajayoga-meditation/

ब्रह्मा बाबा की 51 वीं पुण्यतिथि विश्व शान्ति दिवस के रूप में मनाया

Check Also

करोना की लड़ाई में भारत की जीत का प्रकाश

करोना की लड़ाई में भारत की जीत का प्रकाश…. Newsanant:- करोना महामारी के बीच भारत …

Leave a Reply