Friday , August 6 2021

WORLD's FASTEST GROWING POSITIVE NEWS PORTAL

Latest
Home / Aawaz / नारी रक्षा-सुरक्षा पर श्री चित्रगुप्त साहित्य समिति द्वारा कार्यक्रम का सफल आयोजन

नारी रक्षा-सुरक्षा पर श्री चित्रगुप्त साहित्य समिति द्वारा कार्यक्रम का सफल आयोजन

दिनाँक 15 दिसंबर 2019,  साईं मंदिर रामनगर के प्रांगण में रविवार को “श्री चित्रगुप्त साहित्य समिति” भिलाई – दुर्ग की काव्यगोष्ठी सफलता पूर्वक सम्पन्न हुई। काव्यगोष्ठी का मुख्य काव्य केंद्र बिंदु ” नारी रक्षा-सुरक्षा” था।

                                                  “आवाज़” 
                           दरिंदगी सामाजिक बला है,शीघ्र हो चकनाचूर
                           नारी अस्तित्व पे ख़तरा है,शीघ्र हो कोसो दूरदूर

उपस्थित कवियों-शायरों में श्री मुकेश भटनागर “आवाज़”(अध्यक्ष), प्रोफेसर प्रबीर रंजन साकेत (उपाध्यक्ष), डॉक्टर श्रीमती बीना सिंह(उपाध्यक्ष), श्री अनिल पांडेय (कोषाध्यक्ष),श्रीमती अनुराधा बक्षी, श्री एन एल मौर्यजी, श्री जायसवाल जी, श्री प्रशांत श्रीवास्तव(सह सचिव), प्रोफेसर पंकज अग्रवाल, श्री कुशवाहा अंजन, श्री यशवंत सूर्यवंशी, श्री ओमवीर करन, श्रीमती प्रिया गुप्ता, श्री नरेन्द्र सोनाने (मंदिर पुजारी) एवं कई श्रोतागण उपस्थित रहे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री रामनाथ पांडेय जी द्वारा की गई।

पिछले 55 सालों से मुकेश भटनागर जी  “आवाज़” द्वारा राष्ट्रिय मुद्दों पर अपनी बात को जन मानस के सामने प्रस्तुत कर जन जागृति ला रहे है |
आप भी अपनी बातों ,विचारो द्वारा विश्व में “आवाज़” के माध्यम से विश्व परिवर्तन का शंखनाद करिये |

 मुकेश भटनागर “आवाज़” ( वैशालीनगर, भिलाई, छत्तीसगढ़ -India)

Email Id:-newsanantmedia@gmail.com

 सूक्ष्म आत्मा शरीर को कैसे चलाती हैं ? विज्ञान नहीं आध्यात्म के  पास है उत्तर

http://www.bbcworld.com

 “आवाज़” 
                           दरिंदगी सामाजिक बला है,शीघ्र हो चकनाचूर
                           नारी अस्तित्व पे ख़तरा है,शीघ्र हो कोसो दूरदूर

उपस्थित कवियों-शायरों में श्री मुकेश भटनागर “आवाज़”(अध्यक्ष), प्रोफेसर प्रबीर रंजन साकेत (उपाध्यक्ष), डॉक्टर श्रीमती बीना सिंह(उपाध्यक्ष), श्री अनिल पांडेय (कोषाध्यक्ष),श्रीमती अनुराधा बक्षी, श्री एन एल मौर्यजी, श्री जायसवाल जी, श्री प्रशांत श्रीवास्तव(सह सचिव), प्रोफेसर पंकज अग्रवाल, श्री कुशवाहा अंजन, श्री यशवंत सूर्यवंशी, श्री ओमवीर करन, श्रीमती प्रिया गुप्ता, श्री नरेन्द्र सोनाने (मंदिर पुजारी) एवं कई श्रोतागण उपस्थित रहे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री रामनाथ पांडेय जी द्वारा की गई।

Check Also

चुनौतियों के बिना जीवन नीरस-एक नई सोच की ओर वेब सिरीज़

एक नई सोच की ओर … चुनौतियों के बिना जीवन नीरस हो जाएगा… ब्रह्माकुमारी हर्षा …

Leave a Reply